लखनऊ तक गूंजा मेरठ फैक्टरी का विस्फोट, ATS को जांच में मिली विस्फोटक सामग्री

मेरठ में पटाखा फैक्टरी में हुए विस्फोट का मामला लखनऊ तक गूंज गया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से घटना की जांच कर रिपोर्ट मांगी है। वहीं एटीएस को मौक से विस्फोटक सामग्री भी मिली है। एनडीआरएफ की टीम मौके पर राहत बचाव कार्य में जुटी है।

मेरठ में मंगलवार को दिन निकलते ही लोहिया नगर स्थित साबुन फैक्टरी ब्लास्ट के साथ धराशायी हो गई। धमाका इतना जबरदस्त था कि आसपास का इलाका दहल उठा और कई बिल्डिंग क्षतिग्रस्त हो गईं। हादसे में जहां चार लोगों की मौत हो गई। वहीं, छह लोग घायल हुए हैं।

घटना के बाद आईजी नचिकेता झा, डीएम दीपक मीणा, एसएसपी रोहित सिंह सजवाण समेत आला अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। वहीं गाजियाबाद से एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंचकर राहत बचाव कार्य में जुटी है। वहीं पूरे मामले लखनऊ तक गूंज हो गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले पर संज्ञान लेते हुए घटना की जांच कर अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है।

पुलिस के मुताबिक नौचंदी थाना क्षेत्र के रहने वाले संजय गुप्ता का लोहिया नगर में दो मंजिला भवन है। बताया जाता है कि संजय गुप्ता ने भवन का ग्राउंड फ्लोर आलोक रस्तोगी को किराए पर दिया हुआ था, जिसमें वह साबुन फैक्ट्री चल रहा था। कुछ दिन पहले ही भवन का फर्स्ट फ्लोर जागृति विहार निवासी गौरव भाटिया ने प्लास्टिक पार्ट की फैक्ट्री लगाने के लिए किराए पर लिया था। 

क्षेत्रवासियों के मुताबिक सुबह लगभग 7:00 बजे तेज धमाके के साथ यह बिल्डिंग धराशाई हो गई। धमाका इतना जबरदस्त था कि आसपास की कई बिल्डिंगों में दरार आ गईं। वहीं, निकट स्थित एक दूसरी बिल्डिंग की पहली मंजिल की छत भी गिर गई। 

विस्फोट के कारण इलाके में भगदड़ मच गई। कुछ हादसा समझकर बाहर निकले तो कुछ इसे भूकंप समझने लगे। मौक पर पहुंचने पर लोगों को जानकारी हुई। घटना की सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कराया और मलबा हटाकर नीचे दबे तकरीबन दस लोगों को मेडिकल भेजा। घायलों में से चार को मृत घोषित कर दिया गया। उधर, हादसे में लोहिया नगर के ही रहने वाले करण, ओंकार, श्योराज, आसमा, सोनाक्षी और कार्तिक घायल हुए हैं।

NDRF ने रेस्क्यू रोका, ATS ने की विस्फोटक की पुष्टि
विस्फोट के छह घंटे बाद मलबे से धुंआ निकलने के बाद एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन रोक दिया है। अब फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहले पानी डाल रही हैं। इसके बाद रेस्क्यू दोबारा शुरू किया जाएगा। 

एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड के डीएसपी ने जांच के बाद प्रथम दृष्टया माना है कि यहां विस्फोटक सामग्री भी पाई गई है, जिसकी सैंपलिंग कराकर जांच कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि जो विस्फोटक मिला है ऐसे ही विस्फोट से बिहार में भी चार लोगों की मौत हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.