लोकतंत्र सूचकांक में भारत पांच पायदान ऊपर पहुंचा

इकोनामिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट की ओर से विश्व में लोकतंत्र की स्थिति पर डेमोक्रेसी इंडेक्स 2023 रिपोर्ट जारी की गई है। सूचकांक में भारत पिछले वर्ष के मुकाबले पांच अंकों के सुधार के साथ 41वें स्थान पर पहुंच गया है। वर्ष 2022 में इसका स्थान 46वां था।

इस सूचकांक में देशों को चार कैटेगरी फुल डेमोक्रेसी, फ्लाड डेमोक्रेसी, हाइब्रिड रेजिम और आथोरिटेरियन रेजिम में रखा गया है। नार्वे, न्यूजीलैंड और आइसलैंड ने सूचकांक में शीर्ष स्थान, जबकि उत्तर कोरिया, म्यांमार और अफगानिस्तान ने निचले तीन स्थान पाए हैं।

फ्लाड डेमोक्रेसी की सूची में भारत
भारत को इस सूची में फ्लाड डेमोक्रेसी की सूची में रखा गया है, जिसने आशाजनक आर्थिक विकास दिखाया है और जो वैश्विक आर्थिक शक्ति में बदलाव को दर्शाता है। इसे 7.8 स्कोर के साथ 41वें पायदान पर रखा गया है। पड़ोसी देश चीन को 2.12 स्कोर के साथ 148 में पायदान पर रखा गया है। इसे आथोरिटेरियन रेजिम कैटेगरी में रखा गया है। वहीं, पाकिस्तान में लोकतंत्र की स्थिति बद से बदतर है। पाकिस्तान को आथोरिटेरियन रेजिम कैटेगरी में डाल दिया गया है। पहले यह हाइब्रिड रेजिम में था।

सूचकांक में शामिल क्षेत्र के 28 देशों में से 15 ने अपने स्कोर में गिरावट दर्ज की है। सिर्फ आठ ने सुधार दर्ज किया है। विशेष रूप से इस लोकतंत्र सूचकांक पर पाकिस्तान का स्कोर गिरकर 3.25 हो गया। यह विश्व रैंकिंग तालिका में 11 स्थान गिरकर 118वें स्थान पर पहुंच गया है। रिपोर्ट में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप और सरकारी शिथिलता के साथ ही पाकिस्तान में न्यायपालिका की स्वतंत्रता में बड़ी कटौती हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.