यूपी में बढ़ा डेंगू का कहर, जानें रोकथाम के उपाय !

डेंगू का प्रकोप भारत में लगभग हर साल देखने को मिलता है। मरीजों में वृद्धि भी होती जा रही है और इनमे से कुछ मरीजों की मौत भी हो जाती है। डेंगू का बुखार बेहद खतरनाक होता है ये शरीद को तोड़ने का काम करता है और डेंगू के बुखार में प्लेटलेट्स तेज़ी से गिरने लगती है। डेंगू का बुखार अगर समय पर पता चल जाये तो इससे बचाओ किया जा सकता है साथ ही इसके इलाज में भी आसानी हो जाती है।

डेंगू का प्रकोप भारत में लगभग हर साल देखने को मिलता है। मरीजों में वृद्धि भी होती जा रही है और इनमे से कुछ मरीजों की मौत भी हो जाती है। डेंगू का बुखार बेहद खतरनाक होता है ये शरीद को तोड़ने का काम करता है और डेंगू के बुखार में प्लेटलेट्स तेज़ी से गिरने लगती है। डेंगू का बुखार अगर समय पर पता चल जाये तो इससे बचाओ किया जा सकता है साथ ही इसके इलाज में भी आसानी हो जाती है। आइये जानते है आप डेंगू से बचाओ कैसे कर सकते है साथ ही अपनी इम्युनिटी को बोस्ट कर भुखार को मात भी दे सकते है।

डेंगू से कैसे करे बचाव?
डेंगू का मछर दिन के उँजाले में काटता है तो ऐसे में बारिश के मौसम में फुल कपडे पहने। अगर आप बहार जाते है तो जूते पहन कर ही निकले और अपनी बॉडी पर आयल लगा कर रक्खे। बॉडी में आयल लगाने से मछरो के काटने का खतरा काम हो जाता है।
अपने आस-पास सफाई रक्खे। टंकियों को अच्छी तरह से ढंके व साफ़ रक्खें साथ ही आस-पास गन्दगी ना जमा होने दें। कूलर में भरा पानी न छोड़े घर में कही भी अगर जमा हुआ साफ़ पानी हो तो उसे खाली करदें मछर को पनपने ना दें।
घर में कोइल जलाये और मछर दानी का प्रयोग भी करे।

यदि डेंगू के लक्षण नज़र आते है तो क्या करे! अगर आप को डेंगू के लक्षण नज़र आते है तो खुद या किसी की सलाह से दवाई ना ले अपनी डॉक्टर को तुरंत दिखाए ताकि सही समय पर इसे कण्ट्रोल किया जा सके। अपने डॉक्टर की सलाह से ही काम करें। अपनी प्लेटलेट्स पर ख़ास तौर पर नज़र रक्खें व जाँच करते रहे डेंगू के बुखार में प्लेटलेट्स तेज़ी से गिर्र जाती है। खान पान का ध्यान रक्खें सदा खाना ही खाये तेल मसाला ना खाएं। फ्रूट्स में आप कीवी खा सकते है ये डेंगू में रामबाड़ मानी जाती है इसके आलावा आप पपीते के पत्ते का जूस, नारियाल पानी, और बकरी का दूध पिए इन घरेलु उपाए से डेंगू से जल्द रहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.