इजराइल में ‘हमास ने बच्चों-बुजुर्गों को बनाया निशाना’; IDF का बड़ा बयान

इस्राइल ने जवाबी कार्रवाई शुरू करते हुए हमास के खिलाफ पूर्ण युद्ध की घोषणा कर दी। रक्षा बलों के प्रवक्ता रिचर्ड हेचट ने कहा कि एक तरह से, यह हमला 9/11 जैसा है या उससे भी भयावह है।
हमास के हमले में 700 से अधिक इस्राइली लोगों की मौत हो गई है। इस्राइल ने दावा किया है कि हमास ने सेना को निशाना नहीं बनाया बल्कि नागरिकों को निशाना बनाया है। इस्राइल-हमास युद्ध के दूसरे दिन, आईडीएफ ने बताया कि हमारे लिए पिछले 24 घंटे बहुत कठिन थे। हमास के हमलों के बाद इस्राइल ने भी जवाबी कार्रवाई की और पूर्ण युद्ध की घोषणा की।

हमला 9/11 से भी ज्यादा खतरनाक
इस्राइली सुरक्षा बलों के प्रवक्ता रिचर्ड हेचट ने कहा कि यह हमला एक तरह से 9/11 जैसा या उससे भी अधिक भयावह है। इस हमले का उद्देश्य सिर्फ सिर्फ किसी इमारत से टकराना नहीं था, बल्कि, नागरिकों को निशाना बनाना और बुजुर्ग का अपहरण करना था। उन्होंने बताया कि हम हमास के हमलों का करारा जवाब दे रहे हैं। बच्चों, बुजुर्गों और महिलाओं को निशाना बनाना अंतरराष्ट्रीय कानून के खिलाफ है। यह इस्लाम के भी खिलाफ है। यह परेशान करने वाला है। हमारा मानना है कि बस इस युद्ध में ईरान और हिजबुल्ला शामिल होने की गलती न करें।

आईडीएफ प्रवक्ता मेजर लिब्बी वीस ने कहा कि हम वर्षों से हमास के बारे में बात कर रहे थे कि वह कौन है। हमास क्या करता है। लेकिन शनिवार सुबह सबको पता चल गया कि हमास कौन है। वह इस्राइल का विनाश चाहता है। वह बच्चों, बुजुर्गों और महिलाओं का अपहरण करता है। हमास ने हम पर जमीन, समुद्र और हवा हर तरफ से हमला किया है।

झकझोर देंगे हमले के बाद के दृश्य
मेजर वीस का कहना है कि हमास सैन्य ठिकानों के लिए नहीं आया है। हमास नागरिकों को निशाना बना रहा है, जिनमें बच्चे, शिशु, बुजुर्ग शामिल हैं। युद्ध के दृश्य मानवता को झकझोर देंगे। हमला बहुत बर्बर है। स्थिति बहुत गंभीर हो चुकी है। हमास की क्रूरता इस्राइल के लिए एक भयानक त्रासदी है।

प्रवक्ता मेजर लिब्बी का साक्षात्कार
समाचार एजेंसी को एक साक्षात्कार में, वीस ने बताया कि इजरायली सेना सीमा क्षेत्र को सुरक्षित करने के लिए बहुत कड़ी मेहनत कर रही है। उन्होंने कहा कि इस्राइल के भीतर दक्षिण के समुदायों में कुछ लड़ाइयां चल रही हैं। वीस ने आगे कहा कि यह हमला वास्तव में भयावह है, हमला शनिवार सुबह से जारी है। यह इस्राइल के इतिहास में सबसे बड़ा नरसंहार है। यह सचमुच बहुत भयावह त्रासदी है। ऐसे में सेना सीमा को सुरक्षित करने के लिए बहुत कड़ी मेहनत कर रही है। हमास एक आतंकवादी संगठन है। वह इस्राइल को मानचित्र से मिटाना चाहता है। हमास का लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा इजरायली लोगों को मारना है। उन्होंने हमास को चेतावनी दी कि इस्राइल में जो हुआ उसके लिए उसे भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.