भारत-तंजानिया में स्थानीय मुद्रा में व्यापार करने की तैयारी…

तंजानियाई राष्ट्रपति ने कहा कि ‘मैं उम्मीद कर रही हूं कि इस दौरे से दोनों देशों के बीच राजनीतिक और आर्थिक विकास के नए आयाम खुलेंगे। मेरा देश उम्मीद कर रहा है कि हमारे पूर्वजों ने जो संबंध बनाए हैं, वो आने वाले दशकों तक जारी रहें।’

पीएम मोदी ने तंजानिया की राष्ट्रपति सामिया सुलुहु हसन से नई दिल्ली स्थित हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय मुलाकात की। इस दौरान भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मौजूद रहे। पीएम मोदी और तंजानिया की राष्ट्रपति की द्विपक्षीय मुलाकात के दौरान कई अहम समझौतों पर सहमति बनी। इस दौरान प्रेसवार्ता के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ‘भारत और तंजानिया के संबंधों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। आज हम अपनी वर्षों पुराने संबंधों को रणनीतिक साझेदारी से भी जोड़ रहे हैं। आपसी व्यापार और निवेश के लिए भारत और तंजानिया अहम सहयोगी देश हैं। दोनों देश स्थानीय मुद्रा में व्यापार को बढ़ाने पर काम कर रहे हैं। आईसीटी सेंटर्स, वोकेशनल ट्रेनिंग और डिफेंस ट्रेनिंग के जरिए तंजानिया में स्किल डेवलेपमेंट और क्षमता निर्माण में भारत ने अहम योगदान दिया है। जल प्रबंधन, कृषि, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में हम साथ मिलकर काम कर रहे हैं और तंजानिया के लोगों की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं।’

आतंकवाद, मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा
पीएम मोदी ने कहा कि तंजानिया के इंटरनेशनल बिग कैट अलायंस में शामिल होने के फैसले से दोनों देश इन जंगली जीवों के संरक्षण के लिए वैश्विक समन्वय से बेहतर काम कर सकेंगे। भारत और तंजानिया मानते हैं कि आतंकवाद, मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है। यही वजह है कि आतंकवाद निरोधी क्षेत्र में भी सहयोग बढ़ाने का फैसला हुआ है। इससे पहले तंजानिया की राष्ट्रपति सामिया सुलुहु हसन आज राष्ट्रपति भवन पहुंची। जहां राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका स्वागत किया। राष्ट्रपति भवन में स्वागत समारोह के बाद तंजानियाई राष्ट्रपति ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ‘दोनों देशों के बीच दशकों से बेहतरीन संबंध हैं। मैं उम्मीद कर रही हूं कि इस दौरे से दोनों देशों के बीच राजनीतिक और आर्थिक विकास के नए आयाम खुलेंगे। मेरा देश उम्मीद कर रहा है कि हमारे पूर्वजों ने जो संबंध बनाए हैं, वो आने वाले दशकों तक जारी रहें।’

जंजीबार में खुलेगा आईआईटी मद्रास का कैंपस
पीएम मोदी ने कहा कि तंजानिया के जंजीबार में आईआईटी मद्रास का कैंपस खोले जाने का एलान हमारे संबंधों में मील का पत्थर है। रक्षा के क्षेत्र में हमारे बीच पांच साल के रोडमैप पर सहमति बनी है। इसके तहत सैन्य ट्रेनिंग, मेरीटाइम सहयोग, क्षमता निर्माण और रक्षा उद्योग के क्षेत्रों में नए आयाम खुलेंगे। मुझे खुशी है कि तंजानिया ने वैश्विक बायोफ्यूल्स अलायंस में शामिल होने का फैसला किया है।

रविवार को चार दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचीं तंजानियाई राष्ट्रपति
बता दें कि तंजानिया की राष्ट्रपति सामिया सुलुह हसन अपने चार दिवसीय दौरे पर रविवार को भारत पहुंची। तंजानिया की राष्ट्रपति बनने के बाद से यह उनकी पहली भारत यात्रा है। भारत पहुंचने पर एयरपोर्ट पर उनका स्वागत केंद्रीय राज्यमंत्री अन्नपूर्णा देवी ने किया। सोमवार को वह राष्ट्रपति भवन पहुंची, जहां राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका स्वागत किया। इसके बाद तंजानियाई राष्ट्रपति को गार्ड ऑफ ऑनर देकर उनका औपचारिक स्वागत किया गया।

ये रहेगा तंजानियाई राष्ट्रपति का दौरा
इससे पहले तंजानियाई राष्ट्रपति राजघाट जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। पीएम मोदी से द्विपक्षीय मुलाकात के बाद वह सोमवार शाम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलेंगी, साथ ही राष्ट्रपति द्वारा उनके सम्मान में आयोजित डिनर कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी। मंगलवार को तंजानियाई राष्ट्रपति एक बिजनेस और इन्वेस्टमेंट फोरम में शिरकत करेंगी। बता दें कि आठ साल बाद तंजानिया के राष्ट्र प्रमुख का भारत दौरा हो रहा है और इस दौरे से दोनों देशों के रिश्तों में मजबूती आने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.