शीतकाल के लिए हेमकुंड साहिब के कपाट बंद होने पर पहुंचे दो हजार से ज्यादा श्रद्धालु!

इस यात्राकाल में लगातार भारी बर्फबारी और मौसम खराब रहने के बाद भी 176015 श्रद्धालुओं ने हेमकुंड साहिब में मत्था टेका है।
विश्व प्रसिद्ध हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण लोकपाल मंदिर के कपाट आज शीतकाल के लिए बंद हो गए हैं। कपाट दोपहर डेढ़ बजे शुभ मुहूर्त में बंद किए गए। इस पावन अवसर के साक्षी बनने के लिए करीब दो हजार से ज्यादा तीर्थयात्री हेमकुंड पहुंचे। इस दौरान श्रद्धालुओं ने जो बोले सो निहाल के जयकारे लगाए। इस साल हेमकुंड साहिब में 176015 तीर्थयात्रियों ने मत्था टेका।

बर्फबारी के बाद मौसम हुआ सुहावना
चमोली जनपद में मंगलवार को ऊंची चोटियों पर हुई बर्फबारी के बाद आज बुधवार को सुबह से चटक धूप खिली हुई है। हेमकुंड साहिब के साथ ही बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में भी मौसम सुहावना हो गया है। वहीं, ठंड भी बढ़ने लगी है।

दशहरा पर तय होगी बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि
बदरीनाथ धाम में प्रतिदिन 10 हजार से अधिक तीर्थयात्री दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। 24 अक्तूबर को विजयादशमी के दिन बदरीनाथ के कपाट बंद होने की तिथि तय होगी।