विमान हादसे में पूर्व अंतरिक्ष यात्री विलियम एंडर्स का निधन

अंतरिक्ष की दुनिया से एक दुखद खबर सामने आई है। बता दें कि एक हादसे में रिटायर्ड मेजर जनरल विलियम एंडर्स अपोलो 8 के पूर्व अंतरिक्ष यात्री का निधन हो गया। दरअसल वह जिस विमान को चला रहे थे वो पानी में गिर गया । वह 90 साल के थे। उनके बेटे रिटायर्ड वायु सेना लेफ्टिनेंट कर्नल ग्रेग एंडर्स ने एसोसिएटेड प्रेस को उनकी मृत्यु की पुष्टि की।

ली थी पहली कलरफुल फोटो
बता दें कि रिटायर्ड मेजर जनरल विलियम ने 1968 में अंतरिक्ष से ग्रह को छायादार नीले संगमरमर (ब्लू कलर फोटो) के रूप में दिखाने वाली पहली ‘अर्थराइज’ फोटो ली थी।

विलियम एंडर्स ने इस फोटो को लेकर बताया था कि यह फोटो अंतरिक्ष कार्यक्रम में उनका सबसे महत्वपूर्ण योगदान था। यह फोटो अंतरिक्ष से दिखने वाली पृथ्वी की पहली कलरफुल फोटो है, ये आधुनिक इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण फोटो में से एक है क्योंकि इसने मनुष्यों के ग्रह को देखने के तरीके को बदल दिया है। साथ ही इस फोटो को वैश्विक पर्यावरण आंदोलन को बढ़ावा देने का श्रेय दिया जाता है, जिसमें दिखाया गया है कि अंतरिक्ष से पृथ्वी कितनी नाजुक और अलग-थलग दिखाई देती है।

विमान में एक ही पायलट था
सैन जुआन काउंटी के शेरिफ एरिक पीटर ने इस मामले में बताया, सुबह करीब 11.40 बजे एक रिपोर्ट आई कि एक पुराने मॉडल का विमान जोन्स द्वीप के उत्तरी छोर के पास पानी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया और डूब गया।

फेडरल एविएशन एसोसिएशन के अनुसार, उस समय बीच ए45 हवाई जहाज पर केवल एक पायलट ही सवार था।

अपोलो 8 मिशन को लेकर साझा किए अनुभव
विलियम एंडर्स ने 1997 में नासा के एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि अपोलो 8 मिशन आसान है। लेकिन मैंने राष्ट्र, देशभक्ति को ध्यान में रखते हुए अपने मिशन को पूरा किया। उन्होंने मिशन शुरू होने से पहले अनुमान लगाया था कि लगभग तीन में से एक प्रतिशत मौका हो सकता है कि हमें इसमें पूरी तरह सफल न हो। लेकिन ये सब अच्छे से हो गया। उन्होंने बताया कि उस वक्त हमने महसूस किया पृथ्वी कितनी नाजुक दिखती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.