अदाणी ग्रुप ने शुरू किया मुंबई के इस इलाके में बिजली कनेक्शन काटने का अभियान…

अदाणी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई (AEML) चेंबूर की सिद्धार्थ कॉलोनी में बिजली बिलों का भुगतान न करने वालों पर नकेल कस रही है। करीब 1,100 निवासियों को बकाया राशि के कारण कनेक्शन काटने का सामना करना पड़ रहा है।

यह समस्या डेवलपर्स द्वारा पिछले वादों से उपजी है, जिन्होंने निवासियों को आश्वासन दिया था कि उनके बिजली बिलों का भुगतान किया जाएगा। इससे भुगतान न करने की संस्कृति बन गई। हालांकि 2019 में बड़े पैमाने पर कनेक्शन काटने के अभियान के बाद एक अस्थायी समाधान निकाला गया था, लेकिन पिछली देनदारियां बनी हुई हैं। वर्तमान में, कॉलोनी का 70% हिस्सा अनुपालन करने लगा है।

उच्च खपत और चोरी की चिंताएं

AEML का दावा है कि डिफॉल्टर बहुत ज्यादा बिजली का उपयोग करते हैं, जो दर्शाता है कि उनके घरों में कई उपकरण चल रहे हैं।

इसके अलावा कंपनी ने कनेक्शन कटने के बाद निवासियों द्वारा बिजली चोरी करने के मामलों की रिपोर्ट की है। इससे निपटने के लिए, AEML ने क्षेत्र में सतर्कता बढ़ा दी है।

AEML की बढ़ी चुनौतियां

फील्ड वर्कर्स को कथित तौर पर अपने कर्तव्यों का पालन करते समय धमकी और प्रतिरोध का सामना करना पड़ता है। इससे स्थिति में जटिलता की एक और परत जुड़ जाती है।

एक स्थायी समाधान के लिए निवासियों को अपने बकाया बकाए का समाधान करने और नियमित भुगतान करने के लिए प्रतिबद्ध होने की आवश्यकता है।

समस्या को हल करने और पूरी कॉलोनी के लिए एक विश्वसनीय बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए निवासियों और AEML के बीच खुला संचार करना जरूरी है।