उत्तराखंड में भारी बारिश की चेतावनी, चारधाम यात्रा स्थगित

उत्तराखंड में मौसम विभाग द्वारा शनिवार शाम को नौ जिलों में आगामी दो दिनों में भारी बारिश का अनुमान व्यक्त करने के बाद राज्य सरकार की ओर से चेतावनी (अलर्ट) जारी कर दिया गया। साथ ही, राज्य में स्थित गंगोत्री, यमुनोत्री, बदरीनाथ, केदारनाथ तीर्थस्थानों चारों धामों की यात्रा भी स्थगित कर दी गई। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी जिला अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

आयुक्त, गढ़वाल मंडल और अध्यक्ष, चार धाम यात्रा प्रशासन संगठन, विनय शंकर पाण्डेय ने बताया कि मौसम विभाग, उत्तराखण्ड की विशेष प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार आगामी 07 एवं 08 जुलाई को गढ़वाल मंडल के विभिन्न जनपदों में भारी वर्षा होने की संभावना है। अत: मौसम विभाग की प्रेस विज्ञप्ति के आधार पर गढ़वाल मंडल के चार धाम यात्रा हेतु जाने वाले श्रद्वालुओं से अनुरोध एवं अपील की जाती है कि वे 07 जुलाई को ऋषिकेश से आगे चार-धाम की यात्रा प्रारम्भ न करें तथा जो तीर्थयात्री जिस जगह पर यात्रा हेतु पहुंच गए हैं वे भारी वर्षा की संभावना के द्दष्टिगत उसी स्थान पर विश्राम करें।

धामी ने मौसम विभाग द्वारा राज्य के नौ जनपदों में बहुत भारी वर्षा के पूर्वानुमान को लेकर सभी संबंधित जनपदों के जिलाधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। साथ ही लोगों से भी भारी बारिश के चलते संभावित आपदाओं के द्दष्टिगत सावधानी बरतने तथा सुरक्षित स्थलों पर रहने की अपील की है। उन्होंने सचिव, आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास, विनोद कुमार सुमन तथा आपदा प्रबंधन विभाग से जुड़े अन्य अधिकारियों को यूएसडीएमए के राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से सभी जनपदों की सतत निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र और जिला आपातकालीन परिचालन केंद्र में जैसे ही आपदा को लेकर कोई भी सूचना आए तो उस पर तुरंत कार्रवाई अमल में लाई जाए।

उल्लेखनीय है कि भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा 07 जुलाई रविवार को अल्मोड़ा, बागेश्वर, चम्पावत, नैनीताल, पिथौरागढ़, ऊधमसिंह नगर जनपद में अनेक जगह भारी से बहुत भारी वर्षा तथा कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है। इसके अलावा पौड़ी, चमोली और रुद्रप्रयाग जनपद में कहीं-कहीं बहुत भारी से अत्यंत भारी बारिश तथा कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने का पूर्वानुमान जताया है।