गोहाना अनाज मंडी में धान के भाव में आई तेजी, किसानों में खुशी की लहर

शहर की अनाज मंडी में पिछले कई दिनों से लगातार धान की फसल के लगातार तेजी देखने को मिल रही है। धान के भाव में लगातार आ रही तेजी से अनाज मंडी में धान की आवक तेज हो गई और किसानों के चेहरे पर रौनक लौट आई है। पिछले साल की अपेक्षा इस साल धान की फसल का भाव काफी अच्छे हैं। इस साल धान की फसल के गोहाना की अनाज मंडी में चार हजार से 47 सौ रुपए तक भाव तक पहुंच गए हैं। किसानों को उम्मीद है कि इस साल उनकी फसल के और ज्यादा भाव मिल सकते हैं। किसानों की धान फसल के अच्छे भाव मिलने से अबकी बार उन्हें मुनाफा होने की उम्मीद है। वहीं मंडी के अधिकारियों की मानें तो इस साल धान की फसल के अच्छे भाव होने से मंडी में पिछले साल की अपेक्षा आवक भी ज्यादा आ रही है।

गोहाना की अनाज मंडी में पिछले कई दिनों से धान के भाव में तेजी देखने को मिल रही है। जिसके चलते मंडी में एक बार भी आवक तेज हो गई है और किसान अपनी फसल को मंडी में लेकर पहुंच रहे हैं। धान के भाव में आई तेजी से किसानों के चेहरे पर भी रौनक लौट आई है तो मंडी में धान की आवक एक दम से बढ़ गई है। किसान अपनी फसलों को घरों, खेतों से लेकर मंडी में पहुंच रहा है। किसानों का कहना है कि अबकी बार गोहाना की अनाज मंडी में उसकी धान की फसल के भाव अच्छे मिल रहे हैं पिछले साल उनकी फसल के जो भाव थे इस साल उसमें काफी तेजी है।

धान के भाव तेज होने से किसानों को फ़ायदा होगा और उनकी लागत भी पूरी हो सकेगी। भाव कम मिलने से किसानों की लागत भी पूरी नहीं हो पा रही थी और कुछ दिन पहले हुई मिलरों की हड़ताल से धान की फसल के भाव में पांच सौ रुपए तक की गिरावट से किसानों को निराशा थी, लेकिन अब फिर से मंडी में भाव में तेजी से किसानों व आढ़तियों दोनों को फायदा होगा। अनाज मंडी में जीरी के भाव में तेजी आने से किसानों के चेहरे पर भी रौनक लौट आई है। किसान अपनी रुकी हुई फसल को लेकर अब मंडियों में पहुंच रहे हैं।

गोहाना अनाज मंडी में काम करने वाले आढ़तियों की मानें तो इस साल गोहाना की अनाज मंडी में पिछले साल की अपेक्षा धान की सभी फसलों के भाव में तेजी है। पिछले कुछ दिनों से लगातार भाव बढ़ते जा रह है, जिसके चलते अलग-अलग किस्मों के धान की फसलों के भाव चार हजार से लेकर बढ़ी।

जीरी की फसल के भाव 47 सौ रूपये तक बिक रहे हैं। इसका एक बड़ा कारण एक्सपोर्टर पर सरकार ने जो कंडीशन लगाई थी उनके कुछ कम करने का भी है। उन्हें उम्मीद है कि इस साल धान की फसल के भाव में और तेजी आ सकती है। पिछले साल की तुलना में ज्यादा है। भाव बढ़ने से किसानों के साथ-साथ उनको भी मुनाफा होने की उम्मीद है। अब रोजाना एक लाख क्विंटल तक फसल की आवक आ रही है और आने वाले एक दो दिनों में आवक और बढ़ने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.