एफएसएसएआई: ‘सुरक्षित भोजन सुनिश्चित करने के लिए कैंटीन के कर्मचारियों को दें ट्रेनिंग’

खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने छात्रों को सुरक्षित भोजन सुनिश्चित करने पर जोर दिया है और राज्य के अधिकारियों से छात्रावासों व विश्वविद्यालयों की कैंटीन में खाद्य पदार्थों को संभालने वालों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए कहा है।
भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के सीईओ जी कमला वर्धन राव ने शनिवार को जम्मू-कश्मीर के पहलगाम में केंद्रीय सलाहकार समिति (सीएसी) की 42वीं बैठक को संबोधित किया। उन्होंने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से खाद्य सुरक्षा के बारे में जागरूकता पैदा करने का आग्रह किया।
एफएसएसएआई ने एक बयान में कहा, बैठक के दौरान उन्होंने राज्यों और केंद्र शासित प्रदशों के खाद्य सुरक्षा आयुक्तों को छात्रों के लिए सुरक्षित और स्वच्छ भोजन सुनिश्चित करने के लिए छात्र छात्रावासों और विश्वविद्यालयों की कैंटीन में खाद्य संचालकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने का निर्देश दिया।

सीईओ ने खाद्य सुरक्षा आयुक्त से वर्तमान खाद्य परीक्षण बुनियादी ढांचे को उन्नत करने और देश में खाद्य परीक्षण प्रयोगशालाओं की संख्या बढ़ाने का आह्वान किया। इसके अलावा, राव ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदशों को दूध और दुग्ध उत्पादों और मिठाइयों पर निगरानी करने के लिए प्रयासन करने के लिए प्रोत्साहित किया, क्योंकि त्योहारों का मौसम करीब है।
उन्होंने 100 फूड स्ट्रीट के आधुनिकीकरण पहल को बढ़ावा देने के महत्व के बारे में बात की। बैठक में खाद्य सुरक्षा आयुक्तों (सीएफएस), राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों, एफएसएसएआई और नोडल मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों और खाद्य उद्योग, उपभोक्ताओं, कृषि, प्रयोगशालाओं और अनुसंधान निकायों का प्रतिनिधित्व करने वाले सदस्यों सहित पचास से अधिक अधिकारियों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.