पंजाब: भारत-पाकिस्तान सीमा पर बीएसएफ ने बढ़ाई चौकसी, ग्रामीणों से भी की ये अपील

पंजाब के फिरोजपुर शहर को पूरी तरह सुरक्षा घेरे में रखा गया है। अंतरराष्ट्रीय सीमा के अलावा फिरोजपुर शहर से जुड़ीं सड़कों पर भी नाकाबंदी की गई है। घोड़े पर सवार जवान पाकिस्तान की हरकत पर पल-पल नजर रख रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ और पाकिस्तान रेंजर्स की गोलाबारी के बाद पंजाब में भारत-पाकिस्तान सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने चौकसी बढ़ा दी है। सीमा सुरक्षा बल की निगरानी में किसान फेंसिंग पार खेतों में लगी धान की फसल काट रहे हैं। घोड़ों से फेंसिंग के साथ-साथ गश्त की जा रही है। पाकिस्तानी क्षेत्र में होने वाली गतिविधियों पर जवानों की निगाहें हैं।

बीएसएफ ने बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुई फेंसिंग और टावरों को ठीक कर लिया है। पंजाब में हरिके पत्तन से निकलने वाली सतलुज नदी सात बार पाकिस्तान में प्रवेश कर भारत में दाखिल होती है। ऐसे प्वाइंटों पर बीएसएफ मोटर बोट से गश्त कर रही है। पंजाब में लगभग साढ़े पांच सौ किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पड़ती है। इलाके में सरकंडों के जंगल भी हैं। जहां पर भी बीएसएफ ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए हैं। यही नहीं रात के समय बीएसएफ की महिला सिपाही भी सरहद पर गश्त कर रही हैं।

कई बार महिला सिपाही भी आसमान पर मंडरा रहे पाकिस्तानी ड्रोन गिरा चुकी हैं। सरहद पर दिन-रात जवानों की गश्त चल रही है। जवान पाकिस्तान की तरफ होने वाली पल-पल की खबर वरिष्ठ अधिकारियों को पहुंचा रहे हैं। जवानों ने सरहद से सटे इलाकों के ग्रामीणों से भी अपील की है कि कोई बाहरी व्यक्ति उन्हें दिखे तुरंत सूचना दें।

सरहद के अलावा शहर से जुड़ीं सड़कों पर भी नाकाबंदी की गई है। फिरोजपुर शहर को पूरी तरह सुरक्षा घेरे में रखा गया है। सरहद पर लगी कंटीली तार के आसपास बीएसएफ ने ऐसे आधुनिक यंत्र लगाए हैं कि जीरो लाइन क्रास कर कोई भारतीय सीमा में घुसता है तो जवानों को तुरंत पता चल जाता है।
पठानकोट और अमृतसर में भी बढ़ाई गई सुरक्षा
पठानकोट में भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक पठानकोट को पहले से ज्यादा अलर्ट पर रखा गया है। बॉर्डर के आसपास और नाकों पर पुलिस फोर्स दोगुनी कर दी गई है। जिले में एंट्री प्वाइंट्स पर पुलिस वाहनों की गंभीरता से जांच कर रही है। पठानकोट में भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

उधर, अमृतसर में भी पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था मजबूत कर दी है। जगह-जगह पर नाकाबंदी की गई है। पाकिस्तान के बॉर्डर के साथ सटे अमृतसर जिले के क्षेत्र में गश्त बढ़ाई गई है। अमृतसर पुलिस लगातार बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन पर तलाशी अभियान चला रही है। श्री हरमंदिर साहिब के आसपास और आने-जाने वाले रास्तों पर पुलिस मुलाजिम तैनात हैं। श्री दुर्ग्याणा तीर्थ और राम तीर्थ आदि क्षेत्रों में पुलिस के कमांडो और आरएपी जवान तैनात हैं। पुलिस कमिश्नर नौनिहाल सिंह का कहना है कि विशेष नाके लगाने का निर्देश जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.