सिख तीर्थयात्रियों को पाकिस्तान ने 801 नहीं दिया वीजा, एसजीपीसी अध्यक्ष ने जताई आपत्ति

श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर सिख श्रद्धालुओं के जत्थे को 25 नवंबर को पाकिस्तान जाना है। जहां गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब में प्रकाश पर्व समारोह मनाया जाएगा। यह जत्था विभिन्न तीर्थस्थलों के दर्शन के बाद चार दिसंबर 2023 को भारत लौटेगा।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के अध्यक्ष हरजिंदर धामी ने श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर बड़ी संख्या में पाकिस्तान जाने वाले सिख श्रद्धालुओं को वीजा न देने पर कड़ी आपत्ति जताई है। धामी ने कहा कि एसजीपीसी ने 1684 तीर्थ यात्रियों के पासपोर्ट दिल्ली स्थित पाकिस्तान दूतावास को भेजे थे। इनमें से 801 को वीजा नहीं दिया गया।

धामी ने कहा कि एसजीपीसी हमेशा जत्थे को पंजाब के कोटे के अनुसार पासपोर्ट भेजती आई है लेकिन दुख की बात है कि इस बार वीजा काटकर करीब 50 फीसदी श्रद्धालुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों की सरकारों को इस पर विशेष ध्यान देना चाहिए। एसजीपीसी अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान दौरे के दौरान भी मामला उठाया था।

पाकिस्तान के संबंधित अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि वे इस पर ईमानदारी से काम करेंगे लेकिन दुख की बात है कि पहले की तरह बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों को वीजा से दूर रखा गया। उन्होंने कहा कि इस मामले में जल्द एक प्रतिनिधिमंडल दिल्ली स्थित पाकिस्तान दूतावास के अधिकारियों से मिलने को भेजा जाएगा।

गौरतलब है कि प्रथम पातशाह जी के प्रकाश पर्व के अवसर पर जत्था 25 नवंबर को पाकिस्तान के लिए रवाना होना है। जहां गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब में प्रकाश पर्व समारोह मनाया जाएगा। यह जत्था विभिन्न तीर्थस्थलों के दर्शन के बाद चार दिसंबर 2023 को भारत लौटेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.