विजय हजारे ट्रॉफी: हरियाणा ने रचा इतिहास, तमिलनाडु को हराकर पहली बार पहुचे फाइनल में!

हरियाणा की टीम ने विजय हजारे ट्रॉफी में पहली बार फाइनल का टिकट हासिल करते हुए इतिहास रच दिया है। एकतरफा मुकाबले में हरियाणा ने पहले सेमीफाइनल में तमिलनाडु को 63 रन से हार का स्वाद चखाया। हरियाणा से मिले 294 रन के लक्ष्य के जवाब में तमिलनाडु की पूरी टीम महज 230 रन बनाकर ऑलआउट हुई। बल्लेबाजी में हरियाणा की ओर से हिमांशु राणा ने शतकीय पारी खेली, जबकि गेंदबाजी में अंशुल कम्बोज ने कहर बरपाते हुए चार विकेट अपने नाम किए।

तमिलनाडु का बैटिंग ऑर्डर हुए फ्लॉप
हरियाणा से मिले 294 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तमिलनाडु की शुरुआत अच्छी नहीं रही। बाबा अपराजित महज 7 रन बनाकर सुमित कुमार का शिकार बने। इसके बाद हरि निशांत भी एक रन बनाकर चलते बने। विजय शंकर ने कुछ दमदार शॉट्स लगाए, लेकिन वह अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके और 23 रन बनाकर चलते बने। एन जगदीशन 30 रन बनाकर आउट हुए।

बेकार गई इंद्रजीत की पारी
बाब इंद्रजीत ने पांचवें विकेट के लिए कप्तान दिनेश कार्तिक के साथ मिलकर अर्धशतकीय साझेदारी निभाई। हर्षल पटेल ने कार्तिक की 31 रन की पारी का अंत करते हुए इस साझेदारी को तोड़ा। शाहरुख खान भी बल्ले से कुछ खास कमाल नहीं कर सके और 13 रन बनाकर आउट हुए।

इसके बाद देखते ही देखते पूरी टीम 230 रन पर ढेर हो गई। बाबा इंद्रजीतन ने टीम की ओर से सर्वाधिक 64 रन बनाए। गेंदबाजी में अंशुल कम्बोज ने 30 रन देकर चार विकेट झटके, जबकि राहुल तेवतिया ने दो विकेट अपने नाम किए।

हिमांशु ने मचाया बल्ले से धमाल
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी हरियाणा की शुरुआत भी खराब रही और अंकित कुमार 12 रन बनाकर नटराजन का शिकार बने। हालांकि, इसके बाद दूसरे विकेट के लिए हिमांशु राणा ने युवराज सिंह के साथ मिलकर 132 रन की साझेदारी निभाई। युवराज ने 79 गेंदों पर 65 रन कूटे। वहीं, हिमांशु ने 118 गेंदों पर 116 रन की नाबाद पारी खेली। अंतिम ओवरों में सुमित कुमार ने 30 गेंदों पर 48 रन की शानदार पारी खेली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.