जापान में भीषण भूकंप के बाद अब भारी बारिश का खतरा, मलबे में लोगों के दबे होने की आशंका,

नए साल के दिन जापान में आए विनाशकारी भूकंप में मरने वालों की संख्या 62 तक पहुंच चुकी है। जापान में 7.6 की प्रारंभिक तीव्रता वाला भूकंप सोमवार को दोपहर के मध्य में आया, जिससे कई इमारतें नष्ट हो गईं। इस बीच, जापान में राहत और बचाव कार्य जारी है और मलबे में दबे लोगों की तलाश की जा रही है। अधिकारियों के मुताबिक, तबाही के बाद कुछ तटीय क्षेत्रों के निवासियों को ऊंचे स्थानों पर भागने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

वहीं, मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि बुधवार को भूकंप प्रभावित इलाकों में भारी बारिश का अनुमान है, जिससे भूस्खलन की आशंका बढ़ गई है। जापान में टूटी सड़कें, क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे और सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों के दूरस्थ स्थान के कारण राहत और बचाव कार्य मुश्किल है। अधिकारियों ने अब तक 62 मौतों की पुष्टि की है, जो मंगलवार देर रात 55 से अधिक है।

जापानी प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने अपनी सरकार को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि बचे लोगों को बिजली और पानी सहित बुनियादी सुविधाएं मिलें। किशिदा ने एक आपदा प्रतिक्रिया बैठक के दौरान कहा, “कृपया जितना संभव हो उतने लोगों को बचाने के लिए अपनी शक्ति में सब कुछ करें, जबकि यह ध्यान में रखें कि यह समय के खिलाफ भी एक लड़ाई है।” उन्होंने कहा कि जीवित बचे लोग कुछ समय के लिए घर लौटने में असमर्थ हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.